.

Thursday, March 26, 2015

Khuda Ne Likhi Hi Nahi | Love Poems


खुदा ने लिखी ही नहीं,
मेरी ज़िन्दगी में महोब्बत किसी की,
दर्द में तड़पना ही मुकद्दर है मेरा,
मेरे नसीब में कहा हँसी तेरे लबों जैसी ♥♥

तेरे होने से आँखों में,
आज फिर ये नमी है कैसी,
तुझे देखकर आज फिर,
दिल पे छा गयी है ख़ामोशी सी ♥♥

Saturday, March 21, 2015

Meri Aasha | Undefined Love


तुम्हें चाँद कहूँ या ख्वाब कहूँ,
मेरे लिए महोब्बत की परिभाषा हो तुम,
मेरा सुकून, मेरी ज़िन्दगी,
मेरी आशा हो तुम |


Top post on IndiBlogger.in, the community of Indian Bloggers


Tuesday, March 17, 2015

Tujhse Keh Naa Pau | TUM MILE


तोड़ दूँ सारी बंदिशें,
और तुझसे लिपट जाऊं,
सुन लूँ तेरी धड़कन को,
और तेरी बाहों में सिमट जाऊं |

छू लूँ मेरे लबों से तेरे लबों को,
तेरी हर सांस में घुल जाऊं,
तेरे दिल में उतर कर,
तेरी रूह से मिल जाऊं |

Sunday, March 15, 2015

Tere Khwaabo Mein | Shayari


आँखों को आज फिर सुकून,
तेरे ख़्वाबों में सोने से है,
मुद्दतो बाद आज फिर मेरे लबों पे हँसी,
मेरे दिल के करीब तेरे होने से है ♥♥