.

Friday, October 19, 2012

Money Is Everything !


ये दुनिया है बन्दे
यहाँ कोई ना किसी का अपना है,
स्वार्थ, लोभ और मतलब  की लकीरे माथे पर,
पैसा ही सबका सपना है,
पैसा है तो प्यार है,
पैसा  ही संसार है,
पैसा है तो यार है,
पैसा ही सबकुछ,पैसा ही रिश्तेदार है,
पर इस पैसे की चाह  में,
तुम भावनाओ का कत्ल मत करना,
ये दुनिया है बन्दे
यहाँ कोई ना किसी का अपना है...
स्वार्थ, लोभ और मतलब  की लकीरे माथे पर,
पैसा ही सबका सपना है,
नफरत मिटा दे पैसा
रोते हुए को हँसा दे पैसा,
अब दिल से किसी का कोई ना रिश्ता,
पैसा ही दिखतापैसा ही भाता
पैसा है तो प्यार दिखतापैसा है तो प्यार बिकता,
ये दुनिया है बन्दे 
यहाँ कोई ना किसी का अपना है,
स्वार्थ, लोभ और मतलब  की लकीरे माथे पर,
पैसा ही सबका सपना है,
हर तरफ एक ही राग ये मेरा ये अपना,
बेबसों का मूह बंद कर,
बस अपना राग है जपना,  
पैसा ही बोलता,पैसा ही गाता,
पैसा ही सखा हैपैसा ही भ्राता,
अब हमदर्दी और इंसानियत से किसी का कोई ना नाता,
ये दुनिया है बन्दे  
यहाँ कोई ना किसी का अपना है,
स्वार्थ,लोभ और मतलब  की लकीरे माथे पर,
पैसा ही सबका सपना है,
पैसा ही सबका अपना है !




Keyword tag : Satire, Vicious Acts of Society, Humanity is Died

No comments:

Post a Comment