.

Friday, December 28, 2012

Painful Life




तेरा साया जो मुझसे छुट गया है, 
दिल से धड़कन का साथ छुट गया है,
तू जो मुझसे रूठ गई है,
जैसे सूखे सागर में कोई कश्ती डूब गई है,
अब तो खुदा भी मुझे चिढाने लगा है,
की कहाँ गयी वो महोब्बत, वो वफ़ा
क्या यही है वादे जो कांच की तरह टूट गये हैं,
तेरे प्यार ने जीना सिखा दिया था,
पर तुझे खो देने से,
ये जिंदगी मौत बन गयी है.....
तू हकीकत में मेरे पास ना सही,
पर तेरे सपने, तेरे ख्वाबो का संसार मुझे दे दे,
तेरे बिना मेरी तक़दीर भी मुझसे रूठ गई है,
तेरी यादों में हर पल तडपता रहूँ,
क्या अब बस यही जिंदगी रह गई है,
तू हर जगह से चली गयी है,
पर तू कहीं नहीं गई है,
मेरे दिल में बस गई है,
तुझे पा लूँ , छीन लूँ,
हर पल ख्वाबो की कश्तियाँ डूबती है,
फिर उभरती हुयी चल रही है,
तुझे खो देने के गम से इतना गमगीन हूँ,
जिन्दा हूँ पर सांसे रुक गयी है  !

Written By : MS Mahawar


KEYWORD TAG: LOVE SAD POEMS, EMOTIONAL POEMS, TRUE LOVE POEMS

No comments:

Post a Comment