.

Friday, February 28, 2014

Khuda Bhi | Hindi Poetry


जैसे सूरज भी कभी,
ढलती शाम की गोद में सोया होगा,
जैसे चाँद भी कभी,
अपनी चांदनी में खोया होगा,
तुझे ज़न्नत की हूर बनाकर,
खुदा भी तेरे इश्क के लिए रोया होगा ♥♥


Friday, February 14, 2014

Mout bhi Bewafa Nikali!

ना ही तनहा रात गुजरी,
ना ही उम्मीदों भरी नयी सुबह निकली,
मौत को भी गले से लगाया था,
पर मौत भी बेवफा निकली !

Saturday, February 8, 2014

Mere Jaisa Chehra

तुझे जब भी मेरे इश्क का, मासूम चेहरा दिखाई देगा,
तुझे हर पल मेरी तडपती, साँसों का शोर सुनाई देगा,
जब तेरी नज़रे ढूंढेगी, मेरी जैसी महोब्बत को,
तुझे रास्ते तो मिलेंगे, पर मेरे जैसा चेहरा दिखाई नहीं देगा !

Tuesday, February 4, 2014

Teri Tasveer Ko


Tere Jaane Ke Baad Socha Tha Ki,
Zindagi Ke Baki Kuch Din Tanha Hi Jee Lenge,
Teri Tasveer Ko Dil Ke Sheesho Se Mitane Ke Liye,
Sharab Bhi Pee Lenge,
Magar Ab Tere Bina Ye Zindagi Katati Nahi,
Teri Yaado Ki Mahak Jo Meri Saanso Mein Chali Aaye,
Phir Ye Kambakht Sharab Bhi Chadhti Nahi ♥♥