.

Tuesday, March 11, 2014

Kaise Tujhe Bhula du

कोशिशे लाख की तुझे भूला दू,
तेरी यादो में जाग कर काटी है कई रातें,
अब इन बेक़रार आँखों को सुला दू,
मेरी धड़कन तो तुझसे ही एतबार रखती है,
तेरी आँखे और तेरी जुल्फे,
जो तुझसे इश्क फरमाने की साजिशे करती है...
रब से ज्यादा तूझे पाया है,
मेरी परछाई में भी तेरा साया है,
वो तेरा ही इश्क है,
दिल को हर रोज़ ये झूठ कह कर सुलाया है,
रब ने तुझे भुलाने को कहा है,
मेरे दिल को अब और क्या सजा दू,
दिल तो तेरी आहट से ही तड़प उठता है,
मैं कैसे तुझे भुला दू,
मेरी नज़रे बस तुझे ही ढूँढती है,
तेरी तस्वीर को मेरे दिल से कैसे मिटा दू...

Keyword Tag : Sad Love, Lost Love, Sad Shayari, Hindi Love Poems, Innocent Love, Painfull Love, Lost Love, Broken Heart Poems

9 comments:

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.