.

Tuesday, April 29, 2014

Mera Dard Tujhse Hai

मेरा दर्द तुझसे है,
रूह का सुकून तुझसे है
मुझे इश्क तुझसे है,
मेरा जूनून तुझसे है
हर सांस तुझसे है,
जिन्दा होने का एहसास तुझसे है
मेरी नींद तुझसे है,
मेरे ख्वाब तुझसे है 
दिल का धडकना तुझसे है,
रूह का तडपना तुझसे है
सुबह की अंगडाई तुझसे है,
शाम की तन्हाई तुझसे है
मेरी आरज़ू तुझसे है,
मेरा हर अंदाज़ तुझसे है
मेरी ख़ामोशी तुझसे है,
मेरी मदहोशी तुझसे है
मेरा हर अरमान तुझसे है,
मेरी जान तुझसे है
मेरे अश्क तुझसे है,
मेरे लबों पे हसी तुझसे है
मुझे प्यार तुझसे है,
मेरी दिलकशी तुझसे है
धड़कन का थमना तुझसे है,
सांसो का चलना तुझसे है
मेरे ग़म तुझसे है,
ये जुदाई तुझसे है
मेरा खुदा तुझसे है,
ये खुदाई तुझसे है
मेरा वजूद तुझसे है,
हर उम्मीद तुझसे है
कुछ पाना तुझसे है,
सबकुछ खोना तुझसे है
मेरा रब तुझसे है,
मेरा ईमान तुझसे है
मुझे इश्क तुझसे है,
ये इकरार तुझसे है

2 comments:

  1. अच्छा है पर तुम्हारी पिछली कविताओं के मुक़ाबले थोड़ी कम आकर्षक। अगली कविता का इंतज़ार रहेगा। :)

    ReplyDelete

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.