.

Monday, October 6, 2014

तुम्हारी झील सी आँखों में | Love Poems


तुम्हारी झील सी आँखों में,
जो गहरे राज़ छुपे हैं,
कभी छूकर देखो हमारे दिल को भी,
मेरे दिल में तुम्हारे लिए गहरे जज़्बात छिपे है ♥♥

पानी की एक बूँद भी,
तुम्हारी साँसों को छूने के लिए तरसती होंगी,
जब तुम मुस्कुराहती हो,
तो घटायें भी बरसती होंगी ♥♥

तुम्हारे कानो के झुमके की जो आवाज़ है,
वही अब मेरे दिल के पास है,
तुम्हारी जुल्फें जो बिखरती होगी,
ये फिजायें भी महकती होंगी ♥♥

जब तुम फूलों को चूमती होगी,
ये बहारें भी तुम्हारे एहसास से झूमती होंगी,
तुम्हारी चूड़ियां जो खनकती होगी,
मेरी रूह तुझे पाने को तडपती होगी,
मेरी नज़रे जब तुम्हे छूती होगी,
तुम्हारी पलकें भी शर्म से झुकती होंगी ♥♥

मगर जो ये मुझे एहसास है,
क्या मेरी भी यादें तुम्हारे पास है,
तुम्हारी तस्वीर को छूकर,
मैं तुम्हे कुछ पल के लिए पा लेता हूँ,
तुम्हारा एहसास जो सदा मेरे साथ है,
क्या मेरा भी वजूद तुम्हारे दिल के पास है ♥♥


Keyword Tag - Love Poems, Romantic Poems, Sad Poems, Best Hindi Poems, Love, True Love, Shruti Haasan, Broken Heart, Friendship

6 comments:

  1. Bahut hi pyari aur dil ko chunewali Kavita hai.
    Keep up the good work Madhusudan

    ReplyDelete
  2. बोहट प्‍यार भरी रचना मधुसूदन.

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद श्वेता जी.

      Delete

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.