.

Friday, November 7, 2014

Ye Andhera Kyon Hai | Emotional Poems


दीये जल रहे है,
मगर ये अँधेरा क्यों है?

साँसे चल रही है,
मगर सबकुछ ठहरा-ठहरा क्यों है?

भूल चुके इन टूटे ख्वाबो को भी,
मगर आज फिर दिल का दर्द गहरा क्यों है?

खो दिया है खुद को भी,
मगर हर तरफ तेरा चेहरा क्यों है?

दीये जल रहे है,
मगर ये अँधेरा क्यों है?



Top post on IndiBlogger.in, the community of Indian Bloggers


Keyword Tag - Sad Love Poems, Lost Love, Emotional Poems, True Love, Loneliness, Darkness Inside my Heart, Love Is gone

2 comments:

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.