Day: March 27, 2015

Khuda Ne Likhi Hi Nahi | Love Poems

खुदा ने लिखी ही नहीं, मेरी ज़िन्दगी में महोब्बत किसी की, दर्द में तड़पना ही मुकद्दर है मेरा, मेरे नसीब में कहा हँसी तेरे लबों जैसी ♥♥ तेरे होने से आँखों में, आज फिर ये नमी है कैसी, तुझे देखकर आज फिर, दिल पे छा गयी है ख़ामोशी सी ♥♥ तुझसे प्यार करूँ या फिर […]

Read more