.

Friday, May 15, 2015

Humari Adhuri Kahani | Infinite Love


आंसमा पे सरकता चाँद,
और कुछ रातें थी सुहानी,
तेरी जुल्फों से गुजरती हुई उंगलियाँ,
और तेरी साँसे थी जैसे मीठा पानी 
♥♥

चेहरे पे तेरी जुल्फों का बिखरना,
धड़कन भी थी तेरी दीवानी,
तेरे चेहरे पे ठहरी वो बारिश की बूंदे,
काश तुझे देखते रहे और ठहर जाये ये जवानी ♥♥

तेरे लबों की वो ख़ामोशी,
जैसे कुछ बातें हो बतानी,
कैसे बयां करूं लब्जों में ये फ़ासला,
हर लब्ज़ जैसे हो पूरी कहानी ♥♥

तुझे बाहों में इस तरह समेट लूँ,
जैसे धुप में सुलगती धरती ने,
ओढ ली हो चादर आसमानी,
तेरी हँसी को देखकर ही सुकून है दिल को,
तेरी नज़रों के सामने ही गुज़र जाये ये जिंदगानी ♥♥

कुछ बातें आज भी अधूरी है,
और अधूरी है जिंदगानी,
हर जख्म अब भी गहरा है,
जिस्म के हर हिस्से में है तेरी निशानी,
हमारी अधूरी कहानी,
हमारी अधूरी कहानी ♥♥



10 comments:

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.