.

Thursday, July 9, 2015

Tu Hai | Soulmate


ज़िन्दगी में अब ना कोई ग़म है,
तू जो मेरा हमदम है ♥♥

हवायें फिर से महकने लगी है,
इस खुशबू का एहसास जो तू है,
दिल भी अब तनहा नहीं है,
मेरे दिल के पास जो तू है ♥♥

लब फिर से गुनगुनाने लगे है,
मेरे अलफ़ाज़ जो तू है,
हँसी फिर लौट आयी है लबों पे,
मेरी मुस्कराहट जो तू है ♥♥

अब कोई दर्द नहीं है दिल को मेरे,
दिल को राहत जो तू है,
फिर से जीने लगा हूँ तुझे देखकर,
मेरी चाहत जो तू है ♥♥

दिल सुन रहा है तेरी धड़कन को,
मेरी हर बात जो तू है,
महोब्बत हो गयी है ज़िन्दगी से फिर से,
मेरे साथ जो तू है ♥♥


Top post on IndiBlogger.in, the community of Indian Bloggers

8 comments:

  1. Very nice!
    (Is it a tribute to Shahid and his new love?)

    ReplyDelete
    Replies
    1. THanks Amit ji and yes, it's tribute to shahid and his new love!

      Delete
  2. Pure romance :) beautifully penned :)

    ReplyDelete
  3. Mazaa aa gaya yaar...bahut achcha likhte ho tum hindi mein

    ReplyDelete
  4. mazaa aa gaya yaar...bahut achcha likhte ho tum hindi mein

    ReplyDelete

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.