.

Wednesday, November 4, 2015

जो लब्ज़ | Undefined Love


मेरी साँसों में तेरी साँसो को घोल दे,
जो लब्ज़ तेरे लब ना कह सके,
उन्हें तू अब तेरी आँखों से बोल दे
♥♥



6 comments:

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.