.

Saturday, December 19, 2015

Tu Meri Ho Jati | Unfulfilled Desires


काश तेरी साँसें,
मेरे लबों को छू जाती,
मेरी बाहों में सिमट कर,
तू सिर्फ मेरी हो जाती ♥♥

काश तेरी खुशबूं में,
मेरी साँसें खो जाती,
मैं तुझे दिल से पुकारता,
और तेरी धड़कने मेरी हो जाती ♥♥

मैं तेरे माथे को चूमता,
और तेरी पलकें शर्म से झुक जाती,
मैं तेरी जुल्फें संवारता,
और तू मुझमें सो जाती ♥♥

मैं जब आईना भी देखता,
तो तू ही नज़र आती
मैं सिर्फ तुझे सुनता,
और तेरे सायें में ज़िन्दगी गुज़र जाती ♥♥

तू जो होती मेरी बाहों में,
तो ज़िन्दगी भी संवर जाती,
मैं तुझे मेरी रूह मैं बसा लेता,
अगर तू मेरी साँसों में उतर जाती ♥♥

ज़िन्दगी बड़ी आसान थी,
अगर तू मेरी हो जाती,
काश तुझे खोने से पहले,
ये ज़िन्दगी खो जाती ♥♥


11 comments:

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.