Month: May 2016

मेहंदी | Infinite Love

तेरे जिस्म की खुशबू से मिल जाऊं मैं, जो तुझे हो पसंद उन आदतों में ढल जाऊ मैं, जो ना हो मुमकिन अब वो भी कर जाऊं मैं, काश तेरे हाथों की मेहंदी बन जाऊं मैं ♥♥

Read more

Tujh Mein | Infinite Love

होकर जुदा खुद से मैं तुझमें जी रहा, तेरे इश्क़ ने जो छुआ मुझे मैं मुझमें ना रहा ♥♥

Read more

Aakhiri Saans | Infinite Love

छू लूँ तुझे कि कोई एहसास हो तुम, कोई नहीं अब सिर्फ दिल के पास हो तुम ♥♥ जो हर पल छूकर गुज़रे वो ज़ज्बात हो तुम, तड़प रही जो कब से उन धड़कनों की आवाज़ हो तुम♥♥ सुकून नहीं कहीं जैसे रूह की प्यास हो तुम, जिस्म में जो बची है वो आखिरी सांस हो […]

Read more