.

Saturday, July 23, 2016

Kinaaro Mein | Hopeless


ढूँढते रहे तुझे इन नज़ारो में,
तू मिली मुझे तो सिर्फ इशारों में,

तुम जो गयी हो,
कि अब खुशबू नहीं इन बहारों में ♥♥

बारिशें भी गिरती है,
मगर अब वो सुकून नही इन बौछारों में,

आँखें भीगी रही,
ख्वाब टूटकर बिखर गये इन सितारों में ♥♥

कभी डूबते थे दरिया-ए-इश्क़ में बेफिक्र,
आज बैठे रहते है सिर्फ किनारों में ♥♥


Indian Bloggers

4 comments:

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.