.

Sunday, September 25, 2016

DARKHAAST | Eternal Love


तेरे लब मेरे लबों पे,
मेरी सांस में तेरी सांस हो,
तू ख़ामोश रहे मैं खामोश रहूँ,
सिर्फ दिल से दिल की बात हो ♥♥

तू तन्हाई बने मैं रात बनूँ,
मिटती ना हो कुछ ऐसी याद हो,
मैं ज़मी बनूँ तू बारिश बने,
बुझती ना हो कुछ ऐसी प्यास हो ♥♥

तू ज़िस्म बने मैं सांस बनूँ,
जो तेरी रूह के पास हो,
मैं तुझमें रहूँ तू मुझमें रहे,
बाहों में सिर्फ तेरा ही एहसास हो ♥♥

तू रहे और मैं रहूँ,
चाहे कोई ना साथ हो,
मैं रात बनूँ तू चाँद बने,
और चांदनी में भीगे ज़ज़्बात हो ♥♥

मैं लफ्ज़ बनूँ तू आवाज़ बने,
ख़त्म ना हो कोई ऐसी बात हो,
मैं आँख बनूँ तू ख्वाब बने,
रिश्ता ये कुछ ऐसा ख़ास हो ♥♥

मैं दिल बनूँ तू धड़कन बने,
रूह से जो गुज़रे तू वो सांस हो,
मैं ज़िस्म बनूँ तू जान बने,
ज़िन्दगी से कोई और ना दरखास्त हो ♥♥


No comments:

Post a Comment