.

Saturday, September 17, 2016

Teri Aur | Infinite Love


तेरे इश्क़ में ताउम्र जला हूँ मैं,
जीना मुमकिन नहीं था मगर,
जीने के सलीको में ढला हूँ मैं ♥♥

हर वक़्त तनहा राहें पुकारती रही मुझे,
जितने कदम भी चला हूँ,
तेरी ओर चला हूँ मैं ♥♥


Indian Bloggers

2 comments:

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.