.

Sunday, November 6, 2016

Zindagi | Infinite Love


ज़िन्दगी बंद मुठ्टी और इश्क़ जैसे रेत है,
तेरी जुल्फों की उलझनों में मेरी साँसे कैद है ♥♥


4 comments:

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.