.

Monday, February 13, 2017

Rehmat | Infinite Love


तू इश्क़ कर या ना कर,
हम तो तेरी ना में भी सहमत है,

दर्द मिले या ख़ुशी मिले,
इश्क़ में जो भी मिले रहमत है ♥♥


No comments:

Post a Comment