.

Tuesday, February 28, 2017

Zindagi | Infinite Love


हर लम्हा जल रही ज़िंदगी ये कैसी तपन है,
जैसे मेरे दिल की जमीं में कोई याद दफ़न है ।


No comments:

Post a Comment