.

Monday, May 1, 2017

Hatheli Pe Chaand | Infinite Love


ज़मीं को चूमने की हसरत में,
जब शाख़ से कोई पत्ता टूटेगा,

जब फ़िर किसी के इंतज़ार में,
किसी शाम सूरज तनहा ही डूबेगा,

जब रुलायेगी किसी रात तेरी याद मुझे,
हथेली पे चाँद रखकर ये दिल तुझको ही ढूंढेगा ♥♥


No comments:

Post a Comment