.

Sunday, July 23, 2017

Intzaar | AWARAPAN


1) मेरी धड़कनें भी तुझसे ये जवाब चाहती है,
वो जो बात तेरे होंठो पे आकर वापस लौट जाती है ♥♥


2) इंतज़ार रहता है दिल को तेरा चाँद की तरह,
वो जो एक याद घर देर से लौटती है ♥♥


3) अपने होंठो के ये गुलाब मेरे होंठो पे रख दो,
मेरी दम तोड़ती हसरतों में थोड़ी साँसे भर दो ♥♥


4) कभी तुम्हें देखकर एक शायरी लिखी थी,
तुम तो पूरी डायरी ही बन गयी ♥♥


5) तू इश्क़ कर या ना कर,
हम तो तेरी ना में भी सहमत है,
दर्द मिले या ख़ुशी मिले,
इश्क़ में जो भी मिले रहमत है ♥♥


2 comments:

If you want to leave comments. First preview your comment before publishing it to avoid any technical problem.