Day: September 14, 2017

पागल | AWARAPAN

तुम पुरे पागल हो, सिर्फ यही सुनने के लिए ही तो मैं पागल था ♥♥

Read more

तुझे इत्र | AE DIL HAI MUSHKIL

तुझे इत्र बनाकर बोतल में बंद कर लूँ, तेरी यादें जब सताये तो तुझे थोड़ा साँसों में भर लूँ ♥♥

Read more

ख्वाहिशें | HAMARI ADHURI KAHANI

वो खामोशियाँ कुछ कहना चाहती है, वो सूरत किसी की आँखों में रहना चाहती है, वो जानती है कि इश्क़ दर्द है, उसकी ख्वाहिशें तो देखो, वो इस दर्द को सहना चाहती है ♥♥

Read more

तेरे सिवा | TUM BIN

तेरे सिवा ज़िंदगी से कोई ख़्वाहिश नहीं है, अगर तू नहीं तो जीने की कोई गुंजाइश नहीं है ♥♥

Read more

नकली किरदार | Hopeless

नकली किरदारों की दुनियां में, सब असली होने की acting कर रहे हैं ।

Read more

शोर | HOPELESS

तुम ध्यान से सुनते क्यों नहीं, लगता है तुम्हारे अंदर शोर बहुत है ।

Read more

ख़ून के आंसू | HOPEless

दिल की कोई जुबां नहीं होती, खामोशियों की कोई सदा नहीं होती, जब उम्मीदें ख़ून के आंसू रो दे, तो उस रात की फिर सुबह नहीं होती ।

Read more