.

Wednesday, September 13, 2017

ख़ून के आंसू | HOPEless


दिल की कोई जुबां नहीं होती,
खामोशियों की कोई सदा नहीं होती,

जब उम्मीदें ख़ून के आंसू रो दे,
तो उस रात की फिर सुबह नहीं होती ।


No comments:

Post a Comment