.

Tuesday, September 19, 2017

दोस्ती | Undefined LOVE


ये जो दोस्ती होती है ना,
इसका कद महोब्बत से बड़ा है,
ये वो ज़ज्बात है,
जिसकी उम्र महोब्बत से ज्यादा है,
जो दर्द भी भूला दे,
दिल से कुछ ऐसा नाता है,
जो टूट कर भी जुड़ जाये,
ये वो धागा है,
बहुत कुछ था ख़ुदा से मांगने को,
हमने सिर्फ़ एक अच्छा दोस्त माँगा है |


No comments:

Post a Comment