.

Friday, February 16, 2018

तेरे लब | Unrequited LOVE


तेरे लब मेरे लबों पे रख दे,
ज़माने ने पत्थर किया है,
मुझे तू फिर मोम कर दे ♥♥


Tuesday, February 13, 2018

Baatein | Infinite LOVE


तेरी रूह से मेरी रूह ने बातें की है,
जब से तेरे लबों से मेरे जिस्म ने साँसे ली है ♥♥


Thursday, February 8, 2018

तेरा हाल | Unrequited LOVE


कितनी महोब्बत है तुझसे,
क्या तूने कभी सोचा है,
मैंने हवाओं से भी तेरा हाल पूछा है ♥♥


Tuesday, January 30, 2018

साँसों के रास्तें | Infinite LOVE


तेरी साँसों के रास्तें तेरे दिल में उतरना है,
एक बार हद में रहकर हद से गुज़रना है ♥♥


Monday, January 29, 2018

कभी ऐसा हो | Hindi POETRY


कभी ऐसा हो कि
चाँद भी ठंडी रात के आगोश में जले,
कभी सूरज भी छांव-छांव चले,
कभी ख़ुशबू तड़प कर हवा से गले मिले,
तब मुझे भी तेरी बाहों में बहकने की सज़ा मिले ♥♥


Sunday, January 28, 2018

DARD | Unrequited LOVE


दर्द ने कभी जीने ही नहीं दिया ऐ दोस्त,
ना उसकी बाहों में जगह मिली और ना ही मौत ।


Friday, January 5, 2018

जनवरी की सर्दी | LOVE POEMS


चल इन हवाओं को
तेरी ज़ुल्फ़ों की तरफ मोड़ दे,
तेरी साँसों से मेरी सांसे जोड़कर
तेरे लबों पे सिर्फ ख़ामोशी छोड़ दे,
ख़्वाबों की बालकनी से,
आसमां से सितारें तोड़ ले,
पूनम का चाँद बाहों में भरकर,
जनवरी की सर्दी ओढ़ ले ♥♥


Tuesday, January 2, 2018

मेरे लफ्ज़ | Hindi Poetry


जब तुझे हम कहीं भी दिखाई ना देंगे,
मेरे लफ्ज़ मेरे होने की गवाही देंगे ♥♥