.

Friday, February 15, 2019

मर्ज़ | iSHQ Shayari


अब उसकी मुस्कुराहट से सुकूँ है दिल को,
यूँ तो मिरे मर्ज़ का कोई इलाज ना मिला ।


No comments:

Post a Comment