Day: March 22, 2019

गाल | रोमांटिक हिंदी शायरी

पक्का रंग नहीं था उसके पास, तू उसने अपना गाल रगड़ दिया ।

Read more

रंग | Holi

मुझमें कितने रंग हैं तेरे, मुझमें ‘मैं’ धुंधला सा हूँ ।

Read more