अकेले थे, अकेले हैं !

ना दोस्तीना प्यार,
सिर्फ रुसवाईयां ही मिली !
वो चाँद भी सितारों की भीड़ में अकेला है,
हम भी दुनिया की इस भीड़ में अकेले हैं,
अकेले थेअकेले हैं !
हमे तो सिर्फ तन्हाईया ही मिली !
कुछ अश्क पानी में बह गये,
पानी में उन्हें ढूँढा तो…..

सिर्फ गहराईया ही मिली,
मंजिल ढूँढने निकले थे,
रास्ता भी तनहा था,
हम भी तनहा थे,
मंजिल ने ही मुहं मोड़ लिया,
ना मंजिल मिलीना साथी मिला,
हमे तो सिर्फ अपनी परछाईया ही मिली,
अकेले थेअकेले हैं !
हमे तो सिर्फ तन्हाईया ही मिली !

KEYWORD TAG: Sad Love Poems, Romantic Love Poems, Lost Love, Innocent Love, True Love, Love Is Pain, Beautiful Love Poems
Tagged , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *