Wahi Mera Saahil Hai | Hindi Poetry

आज
चाँद मेरे बहुत करीब था
,
उस
भीड़ में वही एक मुझ को अज़ीज़ था
♥♥
मेरे
दिल ने कहा की उसके लबो से
,
थोड़ी
सांसे पी लूँ मैं
,

हर
लम्हे ने जो मुझे मौत दी है
,
अब
एक लम्हे में ये ज़िन्दगी जी लूँ मैं
♥♥

उसकी
बिखरी चांदनी ने
,
मुझे
उसके दिल का पता दिया
,

वो
जो मुझसे कह ना सका था
,
उसकी
खामोश नज़रो ने सबकुछ बता दिया
♥♥
आहिस्ता
आहिस्ता उसकी जुल्फों की हवाओ
ने
,
जो
इस टूटे दिल को
, प्यार की
फिर खुशबू दी है
,
मैंने
ख्वाबो में आज फिर
,
उसके
कदमो की आहट सुनी है
♥♥
मैं
लाख दिल को झूठ कहूँ
,
पर
वही मेरा आदिल है
,
मैं
ज़िन्दगी के मझधार मैं खड़ा हूँ
,
वही
मेरा साहिल है
♥♥


Keyword Tags – Hindi Poems On Love, Hindi Poems On Life, Romantic Poems In Hindi, Hindi Sad Poems, Hindi Shayari, Best Hindi Shayari, Hindi Quotes
Tagged , , ,

6 thoughts on “Wahi Mera Saahil Hai | Hindi Poetry

  1. This so beautiful. As beautiful as the first love. 🙂

    1. Thank you so much 🙂

    2. Please read and send your reviews upon a HIndi poem written by me. It would be great to see your reply @
      http://namratakumari.wordpress.com/2013/11/18/%E0%A4%B8%E0%A4%AE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%AA%E0%A4%A3/

    3. I have read that…Awesome Poems n magical words. keep writing 🙂

  2. Very nice 🙂

    1. thank you so much 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *