करीब | दिल की बात

श्रुति :- क्या मुझे यूँ ही देखते रहोगे?
राजीव :- इतने करीब से पहले
कभी चाँद नहीं देखा ना
|

Tagged , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *