Ghar | Hopeless

तेरी यादों में इतना
खोये हैं
,
कि कुछ और ना सोच
सके
,

तेरे दिल में कुछ
यूँ बस गये हैं
,
कि वापस अपने घर ना
लौट सके
♥♥


Tagged , , , , , , ,

4 thoughts on “Ghar | Hopeless

  1. wah…romantic!

    1. Thank you 🙂

  2. beautiful words MS !

    1. Thank you 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *