Humari Adhuri Kahani | Infinite Love

आंसमा पे सरकता चाँद,
और कुछ
रातें थी सुहानी,

तेरी
जुल्फों से गुजरती हुई उंगलियाँ,

और तेरी
साँसे थी जैसे मीठा पानी 
♥♥
चेहरे पे तेरी जुल्फों का बिखरना,
धड़कन भी थी तेरी दीवानी,
तेरे चेहरे पे ठहरी वो बारिश की बूंदे,
काश तुझे देखते
रहे और ठहर जाये ये जवानी
♥♥

तेरे लबों की वो ख़ामोशी,
जैसे कुछ बातें हो बतानी,
कैसे बयां करूं लब्जों में ये फ़ासला,
हर लब्ज़ जैसे हो पूरी कहानी ♥♥
तुझे बाहों में इस तरह समेट लूँ,
जैसे धुप में सुलगती धरती ने,
ओढ ली हो चादर आसमानी,
तेरी हँसी को देखकर ही सुकून है दिल को,
तेरी नज़रों के सामने ही गुज़र जाये ये जिंदगानी ♥♥
कुछ बातें आज भी अधूरी है,
और अधूरी है जिंदगानी,
हर जख्म अब भी गहरा है,
जिस्म के हर हिस्से में है तेरी निशानी,
हमारी अधूरी कहानी,
हमारी अधूरी कहानी ♥♥


Tagged , , , , , ,

10 thoughts on “Humari Adhuri Kahani | Infinite Love

  1. Ati sundar… dil ko choone wali 🙂

  2. Uff…so touching.. 🙂

    1. THank you 🙂

  3. kya kahani hai…is kahani ko poora hona chahiye

    1. Shukriya 🙂 Ye Kahani To Adhuri Hi Hai!

  4. Very poetic! Beautiful poem, I loved the first verse.

    1. THank you. Glad you like it 🙂

  5. its awsome nice i like same lagta he mere liye hi banai apne 😊

    1. THank you so much 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *