मखमली एहसास | Infinite Love

मैं सर्द
हवाओं सा
,
और मखमली
एहसास हो तुम
,

मैं खुद से भी
दूर हूँ
,
और मेरे दिल
के पास हो तुम
♥♥


मैं सूखे हलक
सा
,
और रूह की
प्यास हो तुम
,

मैं नींद को
तरसती आँख सा
,
और एक खूबसूरत
ख्वाब हो तुम
♥♥

मैं खुद से भी
बेख़बर हूँ
,
और साँसों के
साथ चलती याद हो तुम
,

मैं एक गुज़रा
हुआ कल हूँ
,
और मेरा आज हो
तुम
♥♥


Tagged , , , , , , , , ,

12 thoughts on “मखमली एहसास | Infinite Love

  1. Bahut Khooob!! Every word is mesmerizing!!!

    1. Thank you so much, Teena 🙂

  2. Loved these nice details.Would be coming back for more………..

    1. THank you. You're always welcome here:)

  3. Beautiful lines 🙂

    1. Thank you so much, Purba 🙂

  4. Lovely!!
    Happy new year madhusudan.

    1. Thank you so much, Shraddha 🙂
      Wish you too a very Happy New Year 🙂

  5. बहुत सुन्दर
    नव वर्ष मंगलमय हो!

    1. शुक्रिया और आपको भी नव वर्ष की शुभकामनाएं |

  6. बहुत सुंदर अल्फाज.

    1. शुक्रिया सर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *