Kaise Tujhe Bhula du

कोशिशे लाख की तुझे भूला दू,
तेरी यादो में जाग कर काटी है कई रातें,
अब इन बेक़रार आँखों को सुला दू,
मेरी धड़कन तो तुझसे ही एतबार रखती है,
तेरी आँखे और तेरी जुल्फे,
जो तुझसे इश्क फरमाने की साजिशे करती है…

रब से ज्यादा तूझे पाया है,

मेरी परछाई में भी तेरा साया है,
वो तेरा ही इश्क है,
दिल को हर रोज़ ये झूठ कह कर सुलाया है,
रब ने तुझे भुलाने को कहा है,
मेरे दिल को अब और क्या सजा दू,
दिल तो तेरी आहट से ही तड़प उठता है,
मैं कैसे तुझे भुला दू,
मेरी नज़रे बस तुझे ही ढूँढती है,

तेरी तस्वीर को मेरे दिल से कैसे मिटा दू…

Keyword Tag : Sad Love, Lost Love, Sad Shayari, Hindi Love Poems, Innocent Love, Painfull Love, Lost Love, Broken Heart Poems
Tagged , , , ,

9 thoughts on “Kaise Tujhe Bhula du

  1. Nice poem dude…just a suggestion if you start posting in hindi lipi…it would become an easy read for everyone 🙂

  2. Very beautifully penned.

  3. Wah WAh !

  4. awesom lines ms wow its really very good

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *