फरेब के खेल से | Quotes

खुदा
ने दूर ही रखा था हमें इस फरेब के खेल से
,
हम बेवजह ही महोब्बत
के इस खेल में अपना किरदार ढूँढ़ते रहे |


Tagged

2 thoughts on “फरेब के खेल से | Quotes

  1. Wah wah! Bahut khub. These lines are my favorite. 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *