बेधड़क | SHAYARi

तुम जो यूँ बारिशों में
बेधड़क भीगती हो
,
मेरे दिल की ज़मीं को तुम
अपनी अदाओं से सिंचती हो 
♥♥



Tagged , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *