Tag: 2 Lines Sad Shayari

iSHQ Pighlega | हिंदी शायरी

तिरी यादों की आंच से जब इश्क पिघलेगा, लहूँ बन कर आँख से बाहर निकलेगा ।

Read more

ज़ुल्फ़ | Romantic Shayari

हवा भी बचकर निकलती है, उनके आरिज़ पे जब ज़ुल्फ़ गिरती है ।

Read more

तदबीर | Urdu Couplet

मिरे हर ख़्याल की तस्वीर तू है, दिल के ज़ख्मों की तदबीर तू है, लाख दिल को समझाया मगर, मिरे टूटे ख़्वाबों की तकदीर तू है ।

Read more

इंतिज़ार | Hindi Poetry

उनके घर से निकलने के इंतिज़ार में है, “मैं” नहीं मेरा इंतिज़ार तेरे प्यार में है ।

Read more

वो कौन था | Pyar Shayari

उम्र भर साथ रहा मगर कभी छुआ नहीं, वो कौन था जो मेरा होकर भी मेरा हुआ नहीं ।

Read more

तेरी सादगी | Hindi Shayari

वो ठंडा पानी और तेरी सादगी गिरती बर्क़ है, शराब और तेरी आँखों में इतना ही फर्क़ है ।

Read more

तन्हाई | Sad Poetry

हमनें रास्ते को उलझाए रखा, मंजिल से फासला बनाए रखा, कभी यूँ भी ना चले तिरी ज़ानिब, हमनें तन्हाई से दिल लगाए रखा ।

Read more

मुहब्बत बूढ़ी | Urdu Poetry

चार कदम चली और थक कर सो गई, कच्ची उम्र में मुहब्बत बूढ़ी हो गई ।

Read more

मैखानों | Adhoora iSHQ

थोड़ी तिरी आँखों में थोड़ी मैखानों में गुज़रेगी, मुहब्बत अभी तो सर चढ़ी है धीरे–धीरे उतरेगी ।

Read more

तक़रीरें | LOVE Shayari

मुस्तक़िल उनसे मेरी तक़रीरें होती रही, ख़ामोशियाँ चीखती रही और आवाज़ें सोती रही ।

Read more