Tag: Online Poetry

तदबीर | Urdu Couplet

मिरे हर ख़्याल की तस्वीर तू है, दिल के ज़ख्मों की तदबीर तू है, लाख दिल को समझाया मगर, मिरे टूटे ख़्वाबों की तकदीर तू है ।

Read more

इंतिज़ार | Hindi Poetry

उनके घर से निकलने के इंतिज़ार में है, “मैं” नहीं मेरा इंतिज़ार तेरे प्यार में है ।

Read more

वो कौन था | Pyar Shayari

उम्र भर साथ रहा मगर कभी छुआ नहीं, वो कौन था जो मेरा होकर भी मेरा हुआ नहीं ।

Read more

तसल्ली | Urdu Sher

मिरी मुस्कुराहट देखकर उन्होंने तसल्ली कर ली, हमेशा ख़ुश रहना मुहब्बत का सलीका नहीं दोस्त ।

Read more

बर्क़-ए-जमाल-ए-यार | Urdu Shayari

बर्क़-ए-जमाल-ए-यार हमसे सहा ना गया, अँधे हो गए मगर देखें बिना रहा ना गया ।

Read more

मौसम | बारिश शायरी

कभी तेज हो जाती है तो कभी ठहर जाती है, बारिश और तेरी याद का मौसम एक जैसा है ।

Read more

रोशनी | Hindi Shayari

उसे कहीं रोशनी नहीं मिली, वो दिया ख़ुद ही जलकर मर गया ।

Read more

बेपरवाही | रोमांटिक शेर

इश्क़ में उनकी बेपरवाही इतनी सहनी पड़ी जो बातें महसूस करनी थी वो सारी कहनी पड़ी ।

Read more

तुम्हारा नाम | Hindi Love Shayari

तुम्हारा यूँ मुस्कुराहना मिरे बुरे वक़्त में काम आएगा, जब भी चाँद का ज़िक्र होगा तुम्हारा नाम आएगा ।

Read more

मिरे कमरे | ROMANTIC Shayari

तुम अपनी ख़ुशबू यही छोड़ दो, मिरे कमरे में हवा के सिवा कुछ भी नहीं ।

Read more