Tag: Satire – Vicious Acts Of Society

मैं जल हूँ | Hindi Kavita

मैं जल हूँ, जीवन प्रश्न है तो मैं हल हूँ, मैं गर आज हूँ, तो मैं कल हूँ… मैं जल हूँ, मैं बहती नदी का बल हूँ, मैं पेड़ पर लगा फल हूँ, मैं खेत में लहराती फसल हूँ, मैं धरा का आँचल हूँ, मैं बरसता बादल हूँ, मैं निर्मल गंगाजल हूँ… मैं जल हूँ, […]

Read more

इक आदमी | हिंदी कविता

चेहरे पे उदासी लिए शहर में घूमता रहा, वो इक आदमी जो खुशियाँ बेचने आया था |

Read more

अँधेरा | हिंदी शायरी

जिसे तू अपना समझ बैठा है, वो तेरा नहीं है, हर इक आदमी के अंदर अँधेरा है, कहीं सवेरा नहीं है |

Read more

मन | HOPELESS

सिर्फ़ अँधेरों में रहकर सुकून मिलता है मुझे, ये उजालों में रहने वाले लोग मन के काले बहुत है |

Read more

नकली किरदार | Hopeless

नकली किरदारों की दुनियां में, सब असली होने की acting कर रहे हैं ।

Read more

Roshni | Happy Diwali

कहीं रह ना जाये अँधेरा कोई, कि वो ख़ुद जल रहे हैं, कुछ लोग दूसरों को रौशनी देकर, ख़ुद अंधेरों में पल रहे हैं | Wishing you all a very happy and prosperous Diwali ♥♥

Read more

Jo Kabhi Pathar The | Quotes

जो कभी पत्थर थे वो आज भगवान हो गये, और जो आज भी पत्थर ही हैं वो इंसान हो गये |

Read more

Mujhe Aisi Jaagir | Shayari

जो महोब्बत को दौलत से तौल दे, मुझे ऐसी जागीर पसंद नहीं, जो ज़िन्दगी भर का साथ पल भर में छोड़ दे, मुझे ऐसे राहगीर पसंद नहीं |

Read more

Mahobbat Ko Mita Diya | Sad Shayari

नफ़रत इतनी थी उनके दिल में, की उन्होंने महोब्बत को मिटा दिया, अपने इल्ज़ाम उन्हें किसी और पर लगाने थे, तो उन्होंने खुदा को बना दिया | Keyword Tag – Lost Love, Satire, Sad Shayari, Hindi Love Poems, Alone In Love, I am Lost, Never Be The Same again, Heartless, Lovelorn Image Source – Google

Read more

Apni Nazaro se

Mujhe barbaad karne wale log, Ab mujhe Barbaadiyo se bachaane ki Baat karte hain, Kuch Puchho to in se, Ye bade Ajeeb sawaal karte hain, Kahin ud naa jaye koi Panchhi pinjre se ye Bandishe todkar, Unki Hasrato ko todne ke ye Julm Tamam karte hain, Khud apni Nazro mein gire huye log, Ab Dusro […]

Read more