Tera Ghar | Eternal LOVE

तेरे होंठों से छूकर उन्हें ताज़ा कर दे,
वो गुलाब मुरझाने लगे हैं,
मैंने रात से पूछा चाँद का
पता
,
सितारें मुझे तेरा घर बताने
लगे हैं
 ♥♥
Tagged , , , , , , ,

1 thought on “Tera Ghar | Eternal LOVE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *