Teri Rooh | Infinite Love

कभी तेरे लब
मेरे लबों को छु जाये
,
मेरी रूह का
मिलन तेरी रूह से हो जाये
,

ज़माने की
साज़िशों से बेपरवाह हो जाये
,
मेरे तड़पते
ख्वाब कुछ देर तेरी बाहों में सो जाये
,

मिटा कर
फ़ासलें दरमियान इन जज़्बातों में खो जाये
,
कुछ पल के
लिये एक-दूजे के हो जाये
♥♥


Tagged , , , , , , ,

2 thoughts on “Teri Rooh | Infinite Love

    1. THanks 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *