Day: December 5, 2013

Abhi ek Saans Baaki Hai | Hindi Poetry

तेरी यादों के सहारे जी रहा हूँ मैं, प्यार के इस दर्द के घुट को रोज़ पी रहा हूँ मैं ♥♥ मैंने तेरी पलकों पे कुछ सपने सजाये थे, कहीं वो सपने सूख कर मर ना जाये, मैंने उन्हें अपने अश्कों से भीगोये थे ♥♥ कुछ लफ्ज़ ही सुन पाया था तेरे लबों से, अभी […]

Read more