Day: August 8, 2014

मेरी आँखें नम है | Love Poems

रात तनहा है और नींद भी कम है, दिल करता है की तेरे ख्वाब देखूं, पर ना जाने क्यों दिल को आज तेरा एहसास कम है | दिल चाहता है की फिर हमारी बात हो, बारिश से भीगे इस मौसम में फिर हमारी मुलाकात हो, कुछ पल के लिए गिले शिकवे मिटा दे ज़िन्दगी के, […]

Read more