Day: October 24, 2015

बेदर्द ज़िन्दगी | Hopeless

हर कोई तनहा यहाँ, यहाँ कोई ना किसी का हमदर्द है, बेदर्द सी ज़िन्दगी थी और आज भी बेदर्द है |

Read more