Day: December 22, 2015

Sanam Re | Infinite Love

रास्ता तू ही और मंज़िल तू ही, चाहे जितने भी चलूँ मैं कदम ♥♥ तुझसे ही तो मुस्कुराहटें मेरी, तुझ बिन ज़िन्दगी भी है सितम ♥♥ जितनी भी महोब्बत करूँ मैं तुझसे, उतनी ही है कम ♥♥ हर लम्हा तुझे ही चाहूँ, चाहे जितने भी लूँ मैं जन्म ♥♥ रब तू ही और दुआ तू ही, तुझे और कितना […]

Read more