Day: December 31, 2015

Ae Khuda | Hopeless

मुद्दतों बाद लौटा हूँ तेरे दर पर ऐ खुदा, झोली तू चाहे खाली रख मगर फिर आँखे भी मत भरना |

Read more