Year: 2016

Khamoshi | Hindi Poetry

हर लफ्ज़ में मैंने तेरा नाम छिपा रखा है, इस ख़ामोशी में मैंने एक शोर दबा रखा है ♥♥ आगाज़-ए-इश्क़ में जोर बहुत है, इन खामोशियों में शोर बहुत है ♥♥ माना कि तेरी हँसी दर्द छुपाने में माहिर है, मगर तेरी नज़रों से सब कुछ ज़ाहिर है ♥♥

Read more

Chaand | Infinite Love

जुल्फ़ों की अब बात नहीं होती, आँखों की काज़ल से मुलाक़ात नहीं होती, फीका हो गया है इश्क़ का रंग भी अब, चाँद निकलता है मगर अब वो रात नहीं होती ♥♥

Read more

Yaad | Infinite Love

कोई तो वजह है जो मुझे तेरी ओर खींचती है, यूँ ही नहीं मेरी पलकें तेरी याद में भीगती है ♥♥ ख़्वाब टूट भी जाये तो अब ग़म नहीं होता, मगर इश्क़ का ये असर कम नहीं होता ♥♥

Read more

Teri Sadaayen | Infinite Love

मेरी तन्हाइयों को, तेरी सदाएं मिल जाये, जिस दुआ से जुड़ा हो नाम तेरा, मुझे वो सारी दुआएं मिल जायें, सुकून दे जो दिल को, मुझे वो तेरी अदाएं मिल जाये, जिन नज़रों तक है तलाश मेरी, मुझे वो तेरी निगाहें मिल जायें, तुझसे ही मुक़म्मल हो इश्क मेरा, मुझे तेरी वफाएं मिल जाये ♥♥

Read more

IshQ | Infinite Love

ख़्वाब टूट भी जाये तो अब ग़म नहीं होता, मगर इश्क़ का ये असर कम नहीं होता ♥♥

Read more

Rooh | Infinite Love

डायरी में छिपा रखे थे कुछ लम्हें इश्क के, ज़रा सी हवा ने क्या छुआ सारी यादें बिखर गयी ♥♥ गले से तो सभी लगाते हैं, कोई रूह से लगा ले तो बात बने ♥♥

Read more

Tum Chaand | Infinite Love

जैसे इश्क़ पहुँचा है दिल तक, तुम भी रूह में उतर जाओ, मैं सम्भालूं जुल्फें तुम्हारी, तुम खुशबू सी साँसों में बिखर जाओ ♥♥ सुकून कहाँ अब दिल को, चाहे अब जिधर जाओ, मेरी ख्वाबों के आसमां में, तुम चाँद सी निकल आओ ♥♥

Read more

Khamoshi | Infinite Love

नज़रों से जो ज़ाहिर है उसे छुपाये कैसे, इस ख़ामोशी को लफ्ज़ों में बताये कैसे ♥♥ तेरी नज़रों ने दिल को कुछ इस कदर छुआ, तेरे इश्क़ में हर लम्हा मैं बेसब्र हुआ ♥♥ जो बात अधूरी ही रह गयी थी उस रात में, वो रात आज भी अधूरी है तेरी याद में ♥♥ चल कहीं दूर फिर […]

Read more

Janib | Eternal Love

मेरे अंदर कोई तूफ़ान सा है, मगर क्यों ये इश्क़ बेजुबान सा है, हर रोज़ बढ़ते है कदम तेरी ज़ानिब, ये इश्क़ जैसे कोई मुक़ाम सा है ♥♥ ज़ानिब – towards

Read more

Nishan | Infinite Love

महोब्बत की कहानी में तेरा नाम जोड़ आया हूँ, दरख़्त-ए-राह पे मैं इश्क़ के निशान छोड़ आया हूँ ♥♥ दरख़्त-ए-राह –  tree on the way

Read more