Day: March 29, 2017

Tanhaai | Infinite Love

जहाँ आसमां भी ज़मीं को चूमता है, जहाँ सूरज भी थककर सागर की बाहों में डूबता है, जहाँ चाँद भी अंधेरों में कोई रौशनी ढूँढता है, जहाँ कोई पत्ता टूटकर ज़मीं को चूमने के ख़्वाब बुनता है, उस तन्हाई में दिल ख़ामोशी से तेरी आहटे सुनता है ♥♥

Read more