.

Tuesday, November 27, 2018

नींद | Unrequited LOVE


नींद को बुलाया तो तुम्हारी याद चली आई,
मेरे हिस्से में ना तुम आई और ना नींद आई ।


Friday, November 23, 2018

नशा | रोमांटिक शायरी


तेरी थोड़ी सी
पलकें झुका दे,
तेरी उँगलियों को
मेरी उँगलियों से मिला दे,
तेरी जुल्फ़ें
मेरे काँधे पर फैला दे,
जो नशा तेरी आँखों में है
तेरे होंठों से पिला दे ♥♥


Sunday, November 18, 2018

मेहबूब | एकतरफा प्यार


ये कौन है जो
बिना रुके मेरी ओर आ रहा है,
मेरी नज़र में कैद है जो
मुझसे ही नज़रे छिपा रहा है ♥♥

छुप-छुप कर मोहब्बत की है जिसने,
सरेआम आँखों के इशारों में बुला रहा है,

Friday, November 16, 2018

तलब | हिंदी शायरी


तुझसे इश्क की तलब
कभी गयी ही नहीं,
सब कुछ छोड़ दिया,
मगर तेरी यादें
मुझसे अलग हुयी ही नहीं ♥♥


Sunday, November 11, 2018

मोहब्बत | ROCKSTAR 2011


इक उम्र तुझे दी है,
मेरे हिस्से में तो
तेरी इक याद भी नहीं,

हर शाम निकलता हूँ घर से
तन्हाइयों से मिलने,
तक़दीर में शायद
तेरी-मेरी मुलाक़ात ही नहीं,

Saturday, November 10, 2018

कहानियाँ | Hindi Love Shayari


वो बेख़बर है मेरी मौजूदगी से भी,
शायद उसे इश्क़ में कोई मलाल नहीं,

सारे जवाब उसने ख़ुद ही सोच लिए,
उसके होंठों पे अब कोई सवाल नहीं,

आँखों में काज़ल भी है और पलकें झुकी भी है
मगर उसकी नज़र में अब वो कमाल नहीं,

दिल पिघलता ही नहीं उसकी अदाओं से अब,
उसकी साँसों में अब वो उबाल नहीं,

मैं हूँ कि उसकी कहानियाँ लिए बैठा हूँ,
उसके जहन में तो मेरा एक ख्याल भी नहीं |


Saturday, November 3, 2018

नाभि | रोमांटिक शायरी


तेरी कमर को छूती लटे तेरे चेहरे को ताक रही थी,
जैसे तेरी नाभि से वो चाँद की दूरी नाप रही थी ♥♥


Thursday, November 1, 2018

तक़दीर | Hindi Poems


दिल को अब कैसे करार मिले,
तेरा इश्क मिले या तेरा इंतज़ार मिले,
मेरी आँखों की तक़दीर भी तेरे हाथों में है,
इन्हें अश्क़ मिले या तेरा दीदार मिले  ♥♥


Wednesday, October 31, 2018

Breakup | Random Thoughts


हिंदी में " प्यार " हुआ,
उर्दू में " मोहब्बत " हुई,
और English में " Breakup " हो गया |


Sunday, October 28, 2018

उम्र | Hindi Poetry


अभी बहुत कुछ बाकी है बर्बाद होने को,
एक उम्र और चाहिए तुझसे मोहब्बत करने को ♥♥|


Friday, October 26, 2018

महताब | रोमांटिक शायरी


चेहरे पे भीगी जुल्फें
जैसे बारिश में भीगा महताब,
उसके होंठ
जैसे सर्दियों में ठंडे-ठंडे गुलाब,
उसकी साँसें
जैसे हलक से नीचे उतरती शराब,
उसकी झुकती पलकें
जैसे रूख़ पे हया का हिजाब,
उसकी ख़ामोशी 
जैसे अधूरे इश्क के,
अधूरे पते पे भेजे,
अधूरे लिखे जवाब ♥♥


Keyword Tags – Hindi Shayari, Hindi Poems, Sad Love Shayari, Shayari, Love Shayari, Sad Quotes in hindi, Romantic Shayari Hindi

Wednesday, October 24, 2018

ख़ुशबू | हिंदी शायरी


मैंने तुम्हें चाँद में ढूँढा है,
इश्क की कोई सूरत नहीं होती,
जब ख़ुशबू से मोहब्बत हो जाये,
तो फिर जिस्म की जरुरत नहीं होती ♥♥


प्यार | HiNDI Quotes


किसी के साथ सोना प्यार नहीं है,
किसी की आँखों में ख्व़ाब बनकर जागना प्यार है |


तेरा साथ | रोमांटिक शायरी


जिस्म में साँसे कम और तेरी यादें जयादा है,
मैंने ज़िंदगी से ज्यादा तेरा साथ माँगा है  ♥♥


Monday, October 22, 2018

मोहब्बत | Sad Shayari


ज़माने में और भी है छाने वाले लेकिन,
क्यों मोहब्बत सुनते ही तेरा ख्याल आता है |


Saturday, October 20, 2018

मैं जल हूँ | Hindi Kavita


मैं जल हूँ,
जीवन प्रश्न है
तो मैं हल हूँ,

मैं गर आज हूँ,
तो मैं कल हूँ

नज़रिया | हिंदी


बयान करने को पूरा दरिया था,
मगर कोई  जरिया ना मिला,
फिर एक दिन हिंदी मिली,
और फिर इक नज़रिया मिला |


वजह | Hindi Poetry


कभी लगता है कि
तू इस दिल से निकल जाये,
तो कभी लगता  है कि
तुझे याद करने की
कोई वजह मिल जाये ♥♥


Thursday, October 18, 2018

मुसलसल | URDU Shayari


मोहब्बत मुसलसल पीछे पड़ी है,
तेरी यादें छोटी और रातें बड़ी है ♥♥


ठहर | हिंदी कविता


तेरे आने से सहर हुई है,
तेरे जाने से रातें ठहर गई है ♥♥


Wednesday, October 17, 2018

जैसे चाँद | HiNDI Shayari


जिस दिन तुम्हें शायरी में उतारा जाएगा,
जैसे चाँद को कुछ और संवारा जाएगा
 ♥♥


दूरी | रोमांटिक शायरी


चाहे तुझसे मिलना अगले जन्म हो,
तेरे-मेरे लबों के बीच दूरी कभी तो कम हो ♥♥


Tuesday, October 16, 2018

हसीन ख़्वाब | हिंदी शायरी


तुम होंठों पे जो
यूँ उँगलियाँ रख लेती हो,
चाँद पे जो तिल है
उसे ढक देती हो,

इक आदमी | हिंदी कविता


चेहरे पे उदासी लिए शहर में घूमता रहा,
वो इक आदमी जो खुशियाँ बेचने आया था |


तेरा आना | रोमांटिक शायरी


मेरे सामने तेरा यूँ आना हुआ,
मेरे दिल का जां से जाना हुआ ♥♥


Monday, October 15, 2018

Sunday, October 14, 2018

अँधेरा | हिंदी शायरी


जिसे तू अपना समझ बैठा है,
वो तेरा नहीं है,
हर इक आदमी के अंदर अँधेरा है,
कहीं सवेरा नहीं है |



ख़्वाहिशें | हिंदी कविता


मैंने ख्वाहिशों को बाँध रखा है,
बस तू अपनी जुल्फें संभाल ले ♥♥


करीब | दिल की बात


श्रुति :- क्या मुझे यूँ ही देखते रहोगे?
राजीव :- इतने करीब से पहले कभी चाँद नहीं देखा ना |


Friday, October 12, 2018

इक रात | हिंदी शायरी


तेरी धड़कनों को मेरी धड़कने सुनानी है,
तेरी पलकों के नीचे इक रात बितानी है ♥♥


आशा | Eternal LOVE


तुम्हें चाँद कहूँ या ख्व़ाब कहूँ,
मेरे लिए मोहब्बत की
परिभाषा हो तुम,
मेरा सुकून, मेरी ज़िंदगी,
मेरी आशा हो तुम ♥♥


तामील | Urdu POETRY


कुछ इस तरह तेरे इश्क़ की तामील की है,
हर सांस के साथ तेरी याद शामिल की है ♥♥


Thursday, October 11, 2018

नाराज़गी | हिंदी शायरी


चेहरे पे चाँद सी सादगी है,
होंठों पे गुलाबों सी ताज़गी है,
ज़िंदगी की मुझसे कैसी नाराज़गी है,
ये मोहब्बत भी सिर्फ़ कागज़ी है ♥♥